Deen Dayal Upadhyay Gorakhpur University

Department of Law


विधि विभाग की स्‍थापना वर्ष 1958 में हुई। वर्तमान में निम्‍नलिखित महाविद्यालयों के विधि विभाग, गोरखपुर विश्‍वविद्यालय के विधि संकाय से सम्‍बद्व है - 1- सेण्‍ट एण्‍ड्रयूज कालेज, गोरखपुर 2- ए0पी0एन0 महाविद्यालय, बस्‍ती 3- सन्‍त विनोबा महाविद्यालय, देवरिया 4- ओरियण्‍टल लॉ इन्‍स्‍टीट्यूट, देवरिया 5- रैडिएन्‍ट लॉ कालेज, मानवेल, गोरखपुर विश्‍वविद्यालय के आवासीय खण्‍ड में स्थित विधि विभाग वर्तमान में 'बार काउंसिल ऑफ इण्डिया' द्वारा स्‍वीक़त विधि स्‍नातक कक्षा का त्रिवर्षीय पाठ्यक्रम विधि स्‍नातक शिक्षा के लिए सम्‍पूर्ण भारत में अनिवार्य किया जिसमें तीन वर्षो में 28 विषयों का अध्‍ययन करना है। सत्र 1973-1974 से एल-एल0बी0 एवं एल-एल0एम0 कक्षाओं में पूर्णकालिक छात्रों का ही प्रवेश किया जाता है। प्रत्‍येक छात्र को ट्यूटोरियल के साथ प्रतिदिन 4 घंटे की शिक्षा दी जाती है। विधि संकाय को अपना अलग पुस्‍तकालय है। अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के छात्रों के लिए समाज कल्‍याण विभाग द्वारा प़थक रुप में बुक बैंक योजना है। Prof. JITENDER TIWARI DEAN, Prof. AMARENDR KUMAR MISHRA HEAD, Prof. ARVIND KUMAR MISHRA PROFESSOR, Dr. JITENDRA MISHRA ASSO. PROFESSOR, Dr. CHANDRA SHEKHAR ASSO. PROFESSOR, Dr. AHMAD NASEEM ASSO. PROFESSOR, Prof. G.S.TIWARI ( ON LEAN) PROFESSOR.. Prof. JITENDER TIWARI is at present president of Shikshak Sangh.

.