Deen Dayal Upadhyay Gorakhpur University

Department of Education


दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय, गोरखपुर में शिक्षा विभाग की स्थापना सन् 1953 में विश्वविद्यालय फाउन्डेशन सोसायटी' के संरक्षण में एल0टी0 कालेज के रुप में हुई। फरवरी सन् 1957 में 'विश्वविद्यालय फाउन्डेशन सोसायटी' द्वारा एल0टी0 कालेज की सम्पूर्ण परिसंपत्तियॉ एवं दायित्व त्तथा स्टाफ विश्वविद्यालय को हस्तांतरित कर दिया गया। इस प्रकार गोरखपुर विश्वविद्यालय में सर्वप्रथम 'शिक्षा विभाग' की स्थपना हुई जो जनवरी सन् 1979 में उत्तर प्रदेश शासन के निर्णय से एकल विभागीय 'शिक्षा संकाय में परिवर्तित हो गया। सन् 2003 में 'प्रौढ सतत एवं प्रसार शिक्षा विभाग' भी इसी संकाय का एक अंग बन गया। इस प्रकार वर्तमान समय से इस संकाय से दो विभाग - शिक्षाशास्त्र विभाग तथा प्रौढ सतत एवं प्रसार शिक्षा विभाग सम्बद्व हैं।

    वर्तमान समय में कुल 38 प्रशिक्षण महाविद्यालय दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय, गोरखपुर के शिक्ष संकाय के पर्यवेक्षण एवं निरीक्षण में कार्यरत है, जिनमें 29 प्रशिक्षण महाविद्यालय शासन की स्ववित्तपोषित योजना के अन्तर्गत कार्यरत हैं।

.